Monday, August 17, 2009

धर्म के नाम पे लहू क्यो बहाते हो

लाल रंग का है आपका लहू,
आपको मुसलमान कहू या हिन्दू?
तो आप मान गये कि लहू नही है
जाति और धर्म का आधार ,
फ़िर आप जाति और धर्म के
बीच मे लहू को क्यो लाते हो?
मौका मिलते हि एक दूसरे का
लहू क्यो बहाते हो ?

Friday, August 7, 2009

आज की सुरसा -महँग़ाई

आज महँग़ाई दर विज्ञान के नियमों पर चल रही है
तभी तो महगाँई दर मे जब ॠणात्मक वृद्धि हो रही है
तो ॠण और धन सन्तुलित करने के लिये सभी
चीजों के दामों मे धनात्मक(भयात्मक) वृद्धि हो रही है

जीवन के गहराई

मेरे मन के अह्सासो को छूकर
तुमने हमको अदभुत हर्ष दिया
जीवन के गहराई को मैने
सचमुच मे स्पर्श किया
मेरे खुशियो का जो आयत
तुमने इसको विस्तार दिया
मेरे आखो ने जो सपने देखे
उनको तुमने आकार दिया

एकजुट

एक हो टोली
एक हो बोली
एक हमारे नपने हो
जीत हमारी अपनी होगी
जब एक हमारे सपने हो।

Thursday, August 6, 2009

पात्रता

बन सकते है वही मित्र
जिनका ह्र्दय हो पवित्र
साफ़ ह्र्दय की शत प्रतिशत मात्रा
मित्रता की एक ही पात्रता