Friday, January 23, 2009

नववर्ष

नववर्ष का शुभ आगमन
आओ करे इसका अभिनन्दन

हर किरण इस भोर की
खुशियो से भर दे आपका मन
हर दिशा मे बहता रहे
सुख शान्ति का ये शुभ पवन

दमक उठे तन मन सबका
मानो जीवन का ये नया सवेरा
भरा रहे मन उल्लासो से
तोड दो अब विषाद का घेरा

ये जो पहली नव किरन
रोम रोम पुलकित करे
बढे समृदि का साधन
परिवार सब हँसते रहे

ना दुखी हो मन किसी का
ना दुखी हो तन किसी का
आशाओं के दीप जलाकर
करे अभिनन्दन नव वर्ष का

सर्वेश की यही कामना कि
ये नववर्ष हो बहुत खास
दीप प्यार के जलते रहे
रचे नया इस जग मे इतिहास

No comments: